मुझे जीना है

 

कईं बार कुछ बेहद परेशानी

सहजमें व्यथा आवेष्ट करके

हमें अपनी सूझबूझ भूला दे

सो जीवन तुच्छ बोझ सोचे

 

एवं उसे अंत करनेका मन

कोई तरकीब खोज निकाले

जो सचमें कोई समस्याका

सही हल कभी हो ना सके

 

उपरांत अगर प्रयत्न विफल

तो भारी आपत्तिको आमंत्रे

जो बेहालीका ऐसा आलम

कि जैसे ज़िन्दा मौत जीये

 

और निज नादानी अंजाम

खटक सबसे नज़र चुराये

कारण भले संगीन ही हो

पर अमूल्य जीवनसे कम

 

चाहे दुखी दिलका मामला

कि सवाल मान अपमान

या बेजार सदा हो बीमार

कि परीक्षा में असफलता

 

हो सके असह्य कार्य भार

कि चिंतित खोया निवेश

या रोजके झगडेसे हैरान

और आहत बेरहम सजा

 

ऐसे अनेकविध कारणसे

बारंबार बात नहीं जीना

मानो कहने की ही बात

पर सचमें कभी ना चहे

 

जब अगर जान जिस्मसे

यमदूतके साथ जाने लगे

तब चिल्लाये ओह! ईश्वर

दया करो....मुझे जीना है

 

 

Background by John Torp

 

http://www.johntorpmusic.se/

 

Back

 

http://www.kiranarts.org/

 

 

Page Views 

 

Free Counter
Free Counter
.